गुणवत्ता के सौदागर

गर्ग, कुलदीप (2018) गुणवत्ता के सौदागर. Paathshaala Bhitar aur Bahar, 1 (1). pp. 31-42.

[img]
Preview
Text - Published Version
Download (387kB) | Preview

Abstract

वर्त मान परि प्रेक्ष्य में गुणवत्ता हर क्षेत्र का एक मुख्य मुद्दा है। लेकि न गुणवत्ता के मायने क्या हैं? क्या हर क्षेत्र के लि ए गुणवत्ता के मानदण्ड और उसके मायने एक ही होने चाहि ए या क्षेत्र वि शेष के हि साब से इसमें फ़र्क हो सकते हैं? इन प्रश्नों पर विच ार नहीं कि या जाता। यह लेख, शिक्षा और सामाजि क सेवाओं के क्षेत्र में गुणवत्ता तय करने के लि ए उद्योग जगत के मानदण्ड अपनाने के सन्दर्भ में वि श्लेष ण प्रस्तु त करता है। बातचीत की शैली में लि खा गया यह लेख इस बात पर प्रकाश डालता है कि उद्योग जगत में गुणवत्ता के मानदण्डों को कि न आधारों पर तय कि या जाता है और उन्हीं आधारों को लेकर शिक्षा की गुणवत्ता को तय करने में क्या समस्या एँ हो सकती हैं। सं.

Item Type: Articles in APF Magazines
Uncontrolled Keywords: Education, Quality education, Education system
Subjects: Social sciences > Education > Public policy issues in education
Divisions: Azim Premji University > University publications > Paathshaala Bhitar Aur Bahar
Depositing User: Mr. Sachin Tirlapur
Date Deposited: 01 Mar 2020 06:35
Last Modified: 01 Mar 2020 06:36
URI: http://publications.azimpremjifoundation.org/id/eprint/2200
Publisher URL:

Actions (login required)

View Item View Item