बनवारीलाल माड़साब और उनके सवाल

उमर, मोहम्मद (2019) बनवारीलाल माड़साब और उनके सवाल. Paathshaala Bhitar aur Bahar, 1 (2). pp. 41-51.

[img]
Preview
Text - Published Version
Download (293kB) | Preview

Abstract

प्राथमि क स्कूल के एक साधारण शिक्ष क बनवारीलालजी के सेवाकालीन अनुभवों और उनकी सादगी के माध्यम से मोहम्म द उमर ने अपने आलेख में यह बताने की कोशि श की है कि तमाम विपरीत परिस्थितिय ों के बावजूद दूर दराज़ के इलाकों में शिक्ष क कि स तरह अर्थपूर्ण काम कर रहे हैं। साथ ही लेखक ने इस बात का इशारा भी किय ा है कि गैर अकादमि क प्रशासकीय दायि त्वों के चलते कि स प्रकार शिक्ष कीय कार्य प्रभावित होता है। बनवारीलाल माड़साब* जैसे जीवट व्यक ्ति इन्हीं अनुभवों के ख़ज़ाने से बच्चों के लि ए भी सीखने सि खाने के मोती नि काल लाते हैं। सं.

Item Type: Articles in APF Magazines
Subjects: Social sciences > Education
Divisions: Azim Premji University > University publications > Paathshaala Bhitar Aur Bahar
Depositing User: Mr. Sachin Tirlapur
Date Deposited: 01 Mar 2020 10:42
Last Modified: 01 Mar 2020 10:44
URI: http://publications.azimpremjifoundation.org/id/eprint/2219
Publisher URL:

Actions (login required)

View Item View Item