शिक्षा, बाज़ार का विकास और सामाजिक संघर्ष

मदान, अमन (2014) शिक्षा, बाज़ार का विकास और सामाजिक संघर्ष. Shiksha Vimarsha. pp. 4-8.

[img]
Preview
Text - Published Version
Download (51kB) | Preview

Abstract

कोई भी समाज बदलावों से मुक्त नहीं है. येन अंतराल के बाद इन बदलावों को साफा तोर पर देखा जा सकता है. बाजार की व्यवस्था ने भी समाज में बहुत से बदलाव किया है. ये बदलाव सरला और येक्रेधिया नहीं है. जहां बाजार ने कुछ पुराने बन्धनों से मुक्त किया है वहीकुछ संस्थाए भी पैदा की है. शिक्षा पर भी बाजार के असर देखे जा सकते है. यका लेख शिक्षा और समाज में बाजार के जरिये होने वाले बदलावों और उनके प्रभावों की चर्चा है.

Item Type: Article
Subjects: ?? 002 ??
Divisions: Azim Premji University > School of Education
Depositing User: Mr. Krishnamoorti Chavan
Date Deposited: 30 May 2018 11:14
Last Modified: 11 May 2021 09:19
Related URLs:
URI: http://publications.azimpremjifoundation.org/id/eprint/270
Publisher URL: http://www.digantar.org/uploads/shiksha-vimarsh/ar...

Actions (login required)

View Item View Item